जल शामक जल नाशक हस्त मुद्रा – ( Jal Naashak – Shaamak )(एसिडिटी ऐंवम पित्त कफ़ नाशक)

जल वरुण नाशक / शामक हस्त मुद्रा

आज के समय में अधिकांश लोग एसिडिटी या गैस की समस्या से पीड़ित रहते हैं। जब भी आपके पेट में गैस की समस्या बढ़ने लगती है फिर आपका कुछ भी करने का मन नहीं करता है। पेट में होने वाली जलन और एसिडिक फीलिंग के कारण आप परेशान हो जाते हैं और इससे आपके रोजमर्रा के कामों पर काफी असर पड़ता है। वैसे एसिडिटी से राहत पाने के कई घरेलू उपाय हैं। इन्ही में से एक है जल शामक मुद्रा। अगर काम के दौरान हमें एसिडिटी होती रहती हो , तो इस मुद्रा अभ्यास से तुरंत राहत मिलती है। आप एसिडिटी से ज्यादा ही परेशान रहते हैं, तो आप दिन में कई बार इस मुद्रा को कर सकते हैं।
इस मुद्रा में अंगूठे में अग्नि तत्व और छोटी अंगुली में जल तत्व होते हैं। यानि छोटी उंगली को नीचे दबाने से (एसिड के मामले में) अत्यधिक पानी को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। इसी तरह अंगूठे से अग्नि तत्व को कम करने में मदद मिलती है। इतना ही नहीं इस मुद्रा से स्ट्रेस भी कम होता है। जाहिर है स्ट्रेस को एसिडिटी लेवल के साथ जोड़कर देखा जाता है। कुल मिलाकर इस मुद्रा से बहुत राहत मिलती है। इस मुद्रा को करने से दस्त से राहत मिलती है। इसके अलावा इस मुद्रा से मासिक धर्म के दौरान अत्यधिक रक्तस्राव को भी कम कम करने में मदद मिलती है।

Anti-Pollution Mudra admin admin 6 years ago Client Every day I go through heavy traffic to reach my office. At the end of the day I feel I have a stuffy nose and tend to get cold and dry cough very often. Naran S Balakumar Do the VARUN Mudra (Jal Shamak Variant) for 15 minutes as shown in the picture. Then do the Kuber Mudra or so called as MOVEMENT Mudra with PRAN Mudra down (Index and Middle fingers touching the tip of the thumb, while placing the ring and little fingers at the base of the thumb, on both the hands). The Varuna Mudra will discharge the polluted stuff from the lungs. The Pran Mudra down will act as a Fire Mudra converting the thick mucus to water. Client I find my nose gets clearly and breathing gets improved. It also removes my sleepy feeling after having my lunch. Naran S Balakumar The Varun Mudra is an Anti-Allergy Mudra. The PRAN Mudra stands for earth and water – when it is more it will increase lethargy, the opposite is Fire Mudra which reduces lethargy.
0Shares