Latest News

एनीमिया रक्त की कमी Hb बढ़ाने बारे सूर्य, जल ऐंवम प्राण हस्त मुद्रा अभ्यास!

लोह पोषक तत्वयुक्त डाइट सँग – सूर्य, जल ऐंवम प्राण मुद्रा अभ्यास से – हीमोग्लोबिन Hb स्तर को काफी हद तक नियंत्रित करना – अनुभूत अनुभव है!
👁️ एनीमिया का क्या अर्थ है?
एनीमिया का अर्थ है – शरीर में खून की कमी अथवा कहें की शरीर में Hb-हिमोग्लोबिन तत्व की कम मात्रा – जो पुरुषों में 12 से 16 प्रतिशत तथा महिलाओं में 11 से 14 के बीच होना चाहिए!
👁️ Hb किस अवस्था में कम पाया जाता है?
किशोरावस्था और रजोनिवृत्ति के बीच की आयु में एनीमिया सबसे अधिक होता है ऐंवम भारत में 80 प्रतिशत से अधिक गर्भवती मातृशक्ति का एनीमिया से पीड़ित होना कहा गया है!
👁️ एनीमिया के क्या मुख्य लक्षण हैं?
त्वचा जीभ, नाखूनों एवं पलकों के अंदर सफेदी, शरीर में सूजन, चक्कर आने सँग कमजोरी – बहुत अधिक थकावट महसूस होना, सांस फूलना, ह्र्दय गति का तेज होना, ऐंवम बेहोशी तक की नौबत भी आती देखी जाती हैं!
👁️ Hb बढ़ाने हेतु – कौन कौन सी हस्त मुद्राएँ, उपयुक्त कही गई हैं?


लोह बढ़ाने वाली बैलेंस्ड डाइट से उचित पोषक तत्त्वों की प्राप्ति हेतु – सूर्य, जल ऐंवम प्राण मुद्राओं के 10/15 मिनट के नियमित अभ्यास से – निश्चित ही – Hb स्तर को काफी हद तक नियंत्रित करना – अनुभूत अनुभव है!

0Shares

Leave a Reply