Updated : Sep 01, 2019 in Uncategorized

Vayu Hasta Mudra

A Polychrest Natural Medicine अनेकों मर्जों की एक प्राकृतिक दबा वायु हस्त मुद्रा Vayu Hast Mudra एंग्जायटी चिंता, अनिद्रा, मन की चंचलता, गठिया, साइटिका, गैसदर्द, लकवा, पीठदर्द, घुटनों और जोड़ों, कमर रीढ़ गर्दन में होने वाला दर्द, पलकों का फड़कना, हिचकी, रूखी त्वचा और खुजली, बालोंनाखूनों के लिए भी बहुत लाभकारी है। 16+ मिनट तक करें – भोजनुपरांत भी कर सकते हैं!

विधि: वायु तत्त्व की इंडेक्स तर्जनी उंगलियों को अग्नि तत्त्व अँगूठों जड़ में रख, अँगूठों से हल्के से दबा कर रखें! चाहें तो आकाश तत्त्व की मिडिल फिंगर्स को भी तर्जनी उंगलियों के साथ में मिला कर, अँगूठों से दबा कर रखे – जो विष्णु / वात्त शामक हस्त मुद्रा कहलाती है!

Vayu Hasta Mudra
Vatta Mudra – Vayu & Shoonya Mudras Combo
0Shares

4 Comments

Leave a Reply